Crictoday Hindi.

5 WWE सुपरस्टार्स, जिन्हें कंपनी के लिए काफी पहले साइन करना चाहिए था

Shadab Ali Updated: 24 June, 2020, 3:08 PM IST

वर्ल्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (WWE) विश्व की सबसे बड़ी रेसलिंग कंपनी है. इस कंपनी का हिस्सा बनना हर रेसलर की इच्छा होती है. WWE ने दुनिया को कई बड़े योद्धा दिए हैं. उनमें अंडरटेकर, रॉक, होगन, ट्रिपल एच, केन, बिग शो, गोल्डबर्ग, केन, जॉन सीना, आदि जैसे सुपरस्टार्स के नाम शामिल हैं. इसके अलावा कई रेस्लर्स का अंत WWE में हुआ है. उनमें क्रिस बेनवा, रिकिशी, उमागा, चावो आदि शामिल हैं.

WWE ने कई सुपरस्टार्स को रातों-रात अमीर भी बनाया है. मौजूदा समय में भी कई ऐसे रेस्लर्स हैं, जिन्हें इस कंपनी का भविष्य माना जा रहा है, लेकिन आज हम ऐसे 5 सुपरस्टार्स पर नज़र डालेंगे, जिन्हें कंपनी के लिए काफी पहले साइन करना चाहिए था.        

अंडरटेकर - WWE यूनिवर्स में 'द डेड मैन' के टाइटल से चर्चित अंडरटेकर का अपनी डरावनी छवि के कारण ख़ासा नाम हैं. अंडरटेकर को रिंग में देखने के लिए फैंस में काफी बैचेनी रहती है. दर्शक उनकी एक झलक पाने के लिए तरसते हैं. डैडमैन 4 बार WWE चैंपियन बनने मे कामयाब रहे हैं. साल 1990 में अंडरटेकर का WWE रिंग में डेब्यू भी शानदार रहा. इस दौरान उन्होंने WWE पीपीवी सर्वाइवर सीरीज के दौरान कोको बी वेयर और डस्टी रोड्स को हराया था. हाल ही में उन्होंने WWE से संन्यास का ऐलान कर दिया है. अपने 30 साल के करियर में द डेड मैन ने कई दिग्गजों को धूल चटाई है. उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला रेसलमेनिया 36 में एजे स्टाइल्स के खिलाफ खेला था, जिसमें द डेड मैन ने स्टाइल्स को बुरी तरह से पीता था.  

द रॉक (जॉनसन) - WWE के पूर्व चैंपियन द रॉक ने अपने समय में लगभग हर बड़े सुपरस्टार को धूल चटाई है. रॉक ने 1996 को सर्वाइवर सीरीज पीपीवी में हिस्सा लेते हुए WWE में धमाकेदार डेब्यू किया था. फिलहाल, वे हॉलीवुड की दुनिया में हैं और अपने अभिनय से फैंस का मनोरंजन कर रहे हैं. बता दें कि रॉक अमेरिकी टीम के पूर्व फुटबॉल खिलाड़ी भी रह चुके हैं. उन्होंने WWE में अपना डेब्यू रॉक मईविया के नाम से किया था. रॉक से सभी विपक्षी काफी खौफ खाते थे. हालांकि, वे अब भी कभी-कभी WWE में स्पेशल गेस्ट के रूप में नज़र आ जाते हैं.  

जॉन सीना - WWE के इतिहास में सर्वाधिक बार चैंपियन रहने वाले सुपरस्टार जॉन सीना रिंग में किसी भी परिचय के मोहताज नहीं हैं. उन्होंने अपना WWE डेब्यू जुलाई 2002 में किया था. इतना ही नहीं सीना ने साल 2004 में रेसलमेनिया 20 में बिग शो को हराकर यूनाइटेड स्टैट्स चैंपियनशिप पर कब्ज़ा जमाया था. यहां तक कि जॉन सीना ने 16 बार WWE चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम किया है. इस सुपर स्टार ने 13 बार WWE चैंपियनशिप और 3 बार वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीती है. हालांकि, पूर्व दिग्गज सुपरस्टार 'नेचर बॉय' रिक फ्लेयर भी 16 बार WWE चैम्पियन रह चुके हैं, लेकिन रिक फ्लेयर अब रिंग में नज़र नहीं आते, वहीं जॉन सीना इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं.
 
ब्रॉक लेसनर - WWE यूनिवर्स में ‘द बीस्ट’ के नाम से मशहूर WWE के पूर्व यूनिवर्सल चैंपियन ब्रॉक लेसनर रिंग के अंदर बड़े से बड़े रेसलर को हराने का माद्दा रखते हैं. रेसलमेनिया में अंडरटेकर को हराकर उनकी जीत की स्ट्रीक को समाप्त करने वाले ब्रॉक लेसनर ने 18 मार्च 2002 को WWE डेब्यू किया था. ब्रॉक लेसनर एक वर्ष में 12 मिलियम डॉलर की कमाई करते हैं.

स्टिंग - अपने होरर और थ्रिलर अंदाज़ से विपक्षियों को डराने वाले WWE के रहस्यमय सुपरस्टार स्टिंग आज किसी भी परिचय के मोहताज नहीं हैं. वो WCW इतिहास के सबसे बड़े सुपरस्टार्स में से भी एक रहे हैं. साल 2014 में उनका पदार्पण डब्लूडब्लूई (WWE) में हुआ था. इसके 2 साल बाद ही उन्हें हॉल ऑफ फेम के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. स्टिंग को विपक्षियों पर स्टिक से वार करने के लिए भी जाना जाता है. स्टिंग के रिंग में उतरने के बाद ओपोनेंट्स के पसीने छूट जाते हैं. उन्होंने अपने डेब्यू मैच में पूर्व चैंपियन ट्रिपल एच को पटखनी दी थी. स्टिंग को WWE के सबसे खतरनाक और डरावने रेस्लर्स में से एक माना जाता है.   

Get Daily Updates From CricToday

Subscribe and get the latest Sports News delivered to your inbox.

IPL 2020 - एमएस धोनी ने इस ख़ास मामले में की रैना की बराबरी, अगले मुकाबले में बन जाएंगे 'किंग'

Shadab Ali Updated: 26 September, 2020, 12:10 AM IST

आईपीएल के 13वें संस्करण के सातवें मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 44 रनों से हराया. चेन्नई सुपर किंग्स की यह तीन मुकाबलों में दूसरी हार है, जबकि दिल्ली कैपिटल्स की दो मैचों में यह दूसरी जीत है. दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर्स में 3 विकेट के नुकसान पर 175 रन बनाए, जिसके जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स पूरे 20 ओवर खेलते हुए 7 विकेट के नुकसान पर 131 रन ही बना पाई. मैच में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले दिल्ली कैपिटल्स के पृथ्वी शॉ को मैन ऑफ़ द मैच के पुरस्कार से नवाज़ा गया. 

इस बीच सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने ख़ास मामले में दिग्गज बल्लेबाज सुरेश रैना की बराबरी की. धोनी आईपीएल में संयुक्त रूप से सर्वाधिक मैच खेलने वाले खिलाड़ी बने. उन्होंने रैना (193 मैच) की बराबरी की. रैना और धोनी दोनों ही के नाम अब 193-193 आईपीएल मैच हैं. मालूम हो कि दोनों ही अभी तक महज दो ही टीम्स के लिए खेले हैं. रैना ने सीएसके और गुजरात लायंस की ओर से आईपीएल मैच खेले हैं, वहीं धोनी ने सीएसके और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की ओर से आईपीएल में शिरकत की है. 

धोनी ने जीता फैंस का दिल

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच में एक बेहद शानदार नज़ारा देखने को मिला, जहां सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने एक बार फिर फैंस का दिल जीत लिया. दरअसल, जब शॉ बल्लेबाजी कर रहे थे तब उनकी आंख में कुछ गिर गया, जिसके बाद धोनी ने दरियादिली दिखाते हुए प्रथ्वी की आंख से तिनका निकालने की कोशिश की. इंडियन प्रीमियर लीग ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक खूबसूरत तस्वीर साझा की है, जिसे फैंस काफी पसंद कर रहे हैं.

IPL 2020 - DC के खिलाफ CSK की शर्मनाक हार के बाद फैंस ने धोनी की टीम का बनाया भद्दा मज़ाक

Shadab Ali Updated: 25 September, 2020, 11:28 PM IST

आईपीएल 2020 के 7वें मुकाबले में शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 44 रनों से हराकर इस सीज़न लगातार दूसरी जीत दर्ज की. दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर्स में 3 विकेट के नुकसान पर 175 रन बनाए थे. डीसी के लिए दाएं हाथ के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (64) ने शानदार अर्धशतक जड़ा. शॉ के अलावा शिखर धवन (35), ऋषभ पंत (37*) और श्रेयस अय्यर (26) ने भी महत्वपूर्ण पारियां खेलीं. चेन्नई के लिए पियूष चावला ने 2 और सैम करन ने 1 विकेट झटके. 

जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स पूरे 20 ओवर खेलते हुए 7 विकेट के नुकसान पर 131 रन बना पाई और दिल्ली की चुनौती के आगे पार नहीं पा सकी. चेन्नई के लिए दाएं हाथ के धाकड़ बल्लेबाज फाफ डू प्लेसी (43) ने सर्वाधिक रन बनाए. फाफ मौजूदा आईपीएल सीजन में लगातार तीन अर्धशतक लगाने से चूक गए. उनके अलावा केदार जाधव (26) ने अहम पारी खेली, लेकिन अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए. दिल्ली के लिए सर्वाधिक विकेट कगिसो रबाडा (3) और एनरिक नोर्खिया (2) ने लिए. 

मुकाबले में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले दिल्ली कैपिटल्स के पृथ्वी शॉ को मैन ऑफ़ द मैच के पुरस्कार से नवाज़ा गया. गौरतलब है कि चेन्नई सुपर किंग्स की यह तीन मुकाबलों में दूसरी हार है, जबकि दिल्ली कैपिटल्स की दो मैचों में यह दूसरी जीत है. श्रेयस अय्यर की कप्तानी वाली दिल्ली कैपिटल्स की धमाकेदार जीत के बाद फैंस की सोशल मीडिया पर मजेदार प्रतिक्रियाएं आईं हैं. आइये देखते हैं-  

वीडियो - 39 साल के धोनी ने लपका 'सुपरमैन' कैच, माही पर चढ़ा जवानी वाला रंग!

Shadab Ali Updated: 25 September, 2020, 9:54 PM IST

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें संस्करण के सातवें मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान और दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का सुपरमैन वाला अवतार देखने को मिला, जहां धोनी ने विकेट के पीछे दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर का ज़बरदस्त कैच पकड़ा. एक समय अच्छी लय में दिख रहे अय्यर ने 22 गेंदों में 26 रन की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 1 चौका जड़ा. अय्यर को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज सैम करण ने अपना शिकार बनाया.

क्रिकेट के मैदान पर दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी का जलवा देखने लायक था, जहां 39 साल के धोनी ने दाईं और डाइव लगाते हुए शानदार कैच लपका. इस दौरान धोनी पर जवानी वाला रंग साफ नज़र आ रहा था.

आप भी देखिए यह वीडियो -

धोनी ने जीता फैंस का दिल

मैच में एक बेहद शानदार नज़ारा देखने को मिला, जहां सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने एक बार फिर फैंस का दिल जीत लिया. दरअसल, जब शॉ बल्लेबाजी कर रहे थे तब उनकी आंख में कुछ गिर गया, जिसके बाद धोनी ने दरियादिली दिखाते हुए प्रथ्वी की आंख से तिनका निकालने की कोशिश की. इंडियन प्रीमियर लीग ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक खूबसूरत तस्वीर साझा की है, जिसे फैंस काफी पसंद कर रहे हैं.

IPL 2020 - धोनी ने फिर दिखाई दरियादिली, विपक्षी टीम के बल्लेबाज की ऐसे की मदद कि खूब हो रही तारीफ

Shadab Ali Updated: 25 September, 2020, 9:04 PM IST

शुक्रवार को आईपीएल 2020 के सातवें मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाजों ने अपनी टीम को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ शानदार शुरुआत दिलाई, जहां शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने पहले विकेट के लिए शानदार 94 रन जोड़े. दिल्ली कैपिटल्स को पहला झटका शिखर धवन (35) के रूप में लगा, जिन्हें स्टार स्पिनर पियूष चावला ने पगबाधा के रूप में पवेलियन की राह दिखाई. इस समय पारी का 11वां ओवर प्रगति पर था. वहीँ, दूसरी तरफ पृथ्वी शॉ (64) ने भी शानदार पारी खेली. उन्हें भी चावला ने अपना शिकार बनाया. 

इस दौरान मैच में एक बेहद शानदार नज़ारा देखने को मिला, जहां सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने एक बार फिर फैंस का दिल जीत लिया. दरअसल, जब शॉ बल्लेबाजी कर रहे थे तब उनकी आंख में कुछ गिर गया, जिसके बाद धोनी ने दरियादिली दिखाते हुए प्रथ्वी की आंख से तिनका निकालने की कोशिश की. 

इंडियन प्रीमियर लीग ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक खूबसूरत तस्वीर साझा की है, जिसे फैंस काफी पसंद कर रहे हैं. गौरतलब है कि धोनी मैदान के बाहर और अंदर अपने शानदार अंदाज़ के लिए जाने जाते हैं. धोनी क्रिकेट के मैदान पर कूल अंदाज के लिए जाने जाते हैं. धोनी को फैसले लेने का भी बादशाह माना जाता है. अब धोनी के एक और फैसले की प्रशंसा हो रही है.   

IPL 2020 - DC को हराने के लिए यह रणनीति अपनाने वाले हैं महेंद्र सिंह धोनी?

Shadab Ali Updated: 25 September, 2020, 8:10 PM IST

चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने रिपोर्ट्स के मुताबिक, कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को ऊपरी क्रम पर बल्लेबाजी करने की सलाह दी है. बता दें कि मौजूदा समय में धोनी दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ सीएसके की अगुवाई कर रहे है, जहां धोनी टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी करते नज़र आ सकते हैं. चेन्नई की ओपनिंग मुरली विजय और शेन वॉटसन ही करते नजर आएंगे, जबकि मिडिल आर्डर में फाफ डु प्लेसी के साथ एमएस धोनी नज़र आ सकते हैं. वहीँ, दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ शानदार शुरुआत की. 

फ्लेमिंग ने जताया था भरोसा 

न्यूजीलैंड के दाएं हाथ के पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा था, "धोनी एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिसने पिछले एक डेढ़ साल में ज्यादा क्रिकेट नहीं खेली है. हर कोई धोनी से उम्मीद करता है कि वह पहले की तरह आते ही वही करना शुरू कर दे जो वह करता था. ऐसा नहीं होता, इसमें थोड़ा समय लगता है."

कीवी टीम के पूर्व कप्तान ने कहा कि धोनी को पुरानी लय में लौटने में अभी थोड़ा समय लगेगा. जानकारी हो कि कैप्टन कूल ने पिछले साल आईसीसी विश्व कप के बाद आईपीएल 2020 में क्रिकेट के मैदान पर वापसी की है. धोनी लगभग पिछले 14 महीनों से क्रिकेट में सक्रिय नहीं थे.  

यह भी पढ़ें 

IPL 2020 - कीवी टीम के पूर्व कप्तान को है यकीन, धोनी 'रेगिस्तान' में रनों का अंबार ज़रूर लगाएंगे