Crictoday Hindi.

यूरोप की टॉप-5 फुटबॉल लीग, जिनके पूरी दुनिया में हैं दीवाने

CT Contributor Updated: 26 June, 2020, 4:41 PM IST

इसमें कोई शक नहीं है कि फुटबॉल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल हैं। यही वजह है कि जब भी फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन होता है, तो भारत जैसा देश भी वर्ल्ड कप के इस जश्न में शामिल हो जाता है। वैसे तो हर देश में अपनी फुटबॉल लीग है, लेकिन पूरी दुनिया में यूरोपियन फुटबॉल का कोई सानी नहीं है। इसकी सबसे बड़ी वजह है दुनिया के दिग्गज फुटबॉलरों का यूरोप में खेलना और क्लबों के बीच दशकों पुरानी राइवलरी जो फैंस को यूरोपियन फुटबॉल के प्रति सबसे ज्यादा आकर्षित करती है। तो आइए बात करते है इसी मुद्दे पर और जानते हैं यूरोप की टॉप-5 फुटबॉल लीग के बारें में........

लीग 1 (फ्रांस)

वैसे तो पूरे यूरोप में फुटबॉल के दीवाने बसते हैं, लेकिन फ्रांस में फुटबॉल का अलग ही माहौल है। फ्रांस विविध संस्कृतियों वाला देश है जिसनें पूरी दुनिया के लोगों को अपनाया है। इसका अंदाजा 2018 फीफा वर्ल्ड कप जीतने वाली फ्रांस की टीम से लगाया जा सकता है, जिसमें कई अफ्रीकी मूल के फुटबॉलर शामिल थे। यही वजह है कि फ्रांस की गिनती सबसे मजबूत फुटबॉल टीमों में होती है।

फ्रांस की फुटबॉल टीम के इतर देश की टॉप लीग की बात करें, तो यहां लीग 1 का आयोजन होता हैं जिसमें ब्राजील के सुपरस्टार नेमार अपना जलवा बिखेर रहे हैं। एक समय था जब लीग 1 की गिनती सबसे प्रतिस्पर्धात्मक (कम्पटिटिव) और रोमांचक लीग में होती थी लेकिन जब से फ्रांस के मशहूर क्लब पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) में कतर की एक कंपनी ने बड़े स्तर पर निवेश किया, तब से लीग में प्रतिस्पर्धा की कमी होती चली गई। यही वजह है कि पीएसजी का इस लीग में अब एक छत्र राज चलता है।

पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) 2012-13 से लगातार लीग 1 का खिताब अपने नाम करती आ रही है। हैरानी की बात ये है कि पीएसजी 2012-13 से पहले सिर्फ 2 बार ही इस लीग 1 खिताब अपने नाम कर पाई थी। पीएसजी के लगातार खिताब जीतने से भले ही क्लब को मजबूती मिली हो, लेकिन इससे लीग 1 की लोकप्रियता मे लगातार गिरावट आ रही है।

प्रमुख क्लब : पेरिस सेंट जर्मेन, मोनाको और ल्योन

सेरी-ए (इटली)

यूरोप की चौथी सबसे लोक्रपिय लीग की बात की जाए, तो इसमें इटली की सेरी-ए लीग का नाम आता है। अन्य यूरोपियन देशों की तरह इटली क लोग फुटबॉल के लिए पागल हैं। अर्जेंटीना के महान फुटबॉलर डिएगो मैराडोना और ब्राजील के महान स्ट्राईकर रोनाल्डो इटली के कई बड़े क्लबों की ओर से खेल चुके हैं। इटैलियन लीग में मिलान डर्बी यानी कि इंटर मिलान और एसी मिलान की राइवलरी सबसे बड़ी राइवलरीज में से एक है।

यूरोपियन फुटबॉल में सेरी-ए कभी टॉप-3 लीग में शुमार होती थी, लेकिन 2005-06 के आसपास फिक्सिंग स्कैंडल से इटैलियन लीग की साख को गहरा झटका लगा। इस स्कैंडल की वजह से न केवल सेरी-ए लीग की लोकप्रियता कम हुई बल्कि खेल के स्तर में भी गिरावट देखी गई। हालांकि इस स्कैंडल के बाद इटली की लीग में सुधार हुआ है। यही नहीं, जुलाई 2018 में जब इटली के मशहूर क्लब युवेंट्स ने रोनाल्डो अपनी टीम के साथ जोड़ा, तब से सेरी-ए की लोकप्रियता में बेतहाशा इजाफा हुआ है।

लीग 1 की तरह ही सेरी-ए में गिनती के कुछ क्लबों का ही बोलबाला है जिसमें युवेंट्स, एसी मिलान और इंटर मिलान शामिल हैं। युवेंट्स पिछले 8 सीजन यानी 2011-12 से लगातार सेरी-ए का खिताब जीत रहा है। ऐसे में सेरी-ए के भीतर प्रतिस्पर्धा की कमी इसे बाकी लीग से कम लोकप्रिय बनाती है।

प्रमुख क्लब : युवेंट्स, एसी मिलान और इंटर मिलान

बुंडेशलीगा (जर्मनी)

बुंडेशलीगा को यूरोप की तीसरी सबसे लोकप्रिय लीग कहा जा सकता है जिसकी सबसे बड़ी वजह है स्टेडियम में रिकॉर्ड दर्शकों की संख्या। आंकड़ो के हिसाब से देखें तो, 2013 से 2018 के बीच बुंडेशलीगा के एक मैच में औसत दर्शकों की संख्या 43 हजार के करीब थी जोकि यूरोप ही नहीं बल्कि दुनिया की किसी भी लीग की तुलना में सबसे ज्यादा है। इस लीग में स्टेडियम के भीतर रिकॉर्ड दर्शकों के पीछे सबसे बड़ी वजह ये है कि बुंदेशलीगा के मैच के टिकटों की कीमत बेहद कम होती है।

बुंदेशलीगा लीग अपने तेज खेल और दनादन गोल के लिए भी जानी जाती है। बुंदेशलीगा में प्रति मैच औसत गोल रेट 3 से ज्यादा का है जो अन्य यूरोपियन लीग की तुलना में सर्वाधिक हैं। बुंदेशलीगा अपने टिकटों के कम कीमतों की वजह से जर्मनी समेत कई यूरोपियन देशों में लोकप्रिय है। लेकिन जब बात आती है यूरोप के बाहर फैन फॉलोईंग की तो ये थोड़ा पिछड़ जाती है। लीग 1 और सेरी-ए की तरह इस लीग में एक ही क्लब का जलवा कायम है और इस क्लब का नाम बार्यन म्यूनिख। बार्यन म्यूनिख 2012-13 सीजन से लगातार 8 बार चैंपियन है और इस लीग में सबसे ज्यादा 29 बार चैंपियन बनने वाला क्लब भी है।

प्रमुख क्लब : बार्यन म्यूनिख और बोरुसिया डोर्टमुंड

ला लीगा (स्पेन)

स्पेनिश लीग ला लीगा दुनिया की दूसरे सबसे लोकप्रिय लीग है। अक वक्त था जब ला लीगा में दुनिया के दो सबसे महान फुटबॉलर मेसी और रोनाल्डो खेलते थे। लेकिन रोनाल्डो के युवेंट्स जाने के बाद ला लीगा में मेसी का एकाधिकार कायम हो गया है।

ला लीग सभी यूरोपयिन फुटबॉल लीग में सबसे अनोखी लीग है जिसकी एक वजह है सभी क्लबों की अपना अलग फुटबॉल स्टाइल। फिर चाहे बात हो टिकी टाका या फिर टोटल फुटबॉल। इन दोनों स्टाइल की ही पैदाईश ला लीगा से ही हुई है।

मेसी हो या फिर रोनाल्डो, दोनों ही खिलाड़ियों ने महानता की उपाधि ला लीगा में ही हासिल की। यही वजह है कि जब बार्सिलोना और रियल मैड्रिड के बीच मुकाबला होता था तो पूरी दुनिया के फुटबॉल फैंस की निगाहें इसी मैच पर टिकी होती।

दुनिया की सबसे बड़ा फुटबॉल राइवलरी मुकाबला एल क्लासिको (बार्सिलोना बनाम रियल मैड्रिड) इसी लीग में खेला जाता है। इसके इतर ला लीगा में भी कड़ी प्रतिस्पर्धा की समस्या है जो इस लीग का एक कमजोर पक्ष है। बीते 20 साले में सबसे ज्यादा बार्सिलोना और रियल मैड्रिड ने ही ला लीगा का खिताब अपने नाम किया है जबकि सिर्फ एक बार एटलेटिको मैड्रिड चैंपियन बनने में सफल हो पाई है।

प्रमुख क्लब :  बार्सिलोना, रियल मैड्रिड और एटलेटिको मैड्रिड।

प्रीमियर लीग (इंग्लैंड)

इंग्लिश प्रीमियर लीग या प्रीमियर लीग में मेसी जैसा बड़ा सितारा तो नहीं खेलता है लेकिन अपने खेल और फुटबॉल संस्कृति की वजह से ये दुनिया की सबसे लोकप्रिय लीग है। साल 1990 में जब नए सिरे से प्रीमियर लीग का आगाज हुआ तो कई सालों तक लीग में मैनचेस्टर यूनाईटेड का वर्चस्व कायम रहा। हालांकि तब भी लीग के भीतर अन्य क्लबों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा में कोई कमी नहीं आई थी।

साल 2001 तक प्रीमियर लीग में मैनचेस्टर यूनाईटेड 7 बार चैंपियन रही जबकि दो अन्य टीम आर्सेनल और ब्लैकबर्न रोवर्स को 1-1 बार चैंपियन बनने का मौका मिला। इसके बाद से लीग सभी क्लबों के बीच प्रतिस्पर्धा का स्तर नई ऊचाईयों पर पहुंच गया।

इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 5 सीजन में 4 अलग-अलग टीमें प्रीमियर लीग का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। यही नहीं मौजूदा सीजन 2019-20 में लीवरपूल 30 साल के खिताबी सूखे को खत्म कर चैंपियन बनने में कामयाब रही जो दर्शाता है कि प्रीमियर लीग सबसे मुश्किल लीग है।

प्रीमियर लीग के क्लबों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा का ही नतीजा है कि यूरोप के बाहर इस लीग के सबसे ज्यादा फैन हैं। भारत में भी लोकप्रियता के मामलें मे प्रीमियर लीग ही अव्वल है।

प्रमुख क्लब :  लीवरपूल, मैनचेस्टर युनाइटेड, आर्सेनल, चेल्सी, मैनचेस्टर सिटी, एवर्टन, लीस्टर सिटी और टॉटनहेम हॉटस्पर।

Get Daily Updates From CricToday

Subscribe and get the latest Sports News delivered to your inbox.

 IPL 2020 - Mayank creates world record in t20

Shadab Ali Updated: 27 September, 2020, 9:25 PM IST

na

IPL 2020 में गेंदबाजी क्यों नहीं कर रहे हैं हार्दिक पांड्या? ज़हीर खान ने बताई वजह

Shadab Ali Updated: 27 September, 2020, 8:15 PM IST


आईपीएल 13 के पहले मैच में मुंबई इंडियंस को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ करारी हार झेलनी पड़ी थी, लेकिन रोहित शर्मा की टीम ने अगले मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को 49 रनों से हराकर आईपीएल 2020 में पहली जीत का स्वाद चखा. ऐसे में टीम के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या गेंदबाजी करने में असफल रहे.  अब टीम के मेंटोर ज़हीर खान ने बताया है कि हार्दिक क्यों गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं.

टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज पेसर ने कहा, "'हम सभी उसके (हार्दिक) गेंदबाजी करने की उम्मीद कर रहे हैं और वह ऐसा खिलाड़ी है जो जब गेंदबाजी कर रहा हो तो किसी भी टीम का संतुलन बदल सकता है और वह इस बात को समझता है, लेकिन हमें उसके शरीर को देखना होगा और हम फिजियो से इसके बारे में परामर्श कर रहे हैं."

उन्होंने आगे कहा, "हम उसे गेंदबाजी करते हुए देखना चाहते हैं, वह भी गेंदबाजी करने का इच्छुक है और वह सचमुच गेंदबाजी करना चाहता है, हमें इंतजार करना होगा और संयम बरतना होगा और उसके शरीर को भी देखना होगा. आखिरकार गेंदबाज को चोटें काफी प्रभावित करती हैं." गौरतलब है कि पिछले साल नवंबर में 26 साल के हार्दिक ने लंदन में सर्जरी कराई थी. 

 IPL 2020 - रोहित शर्मा हैं आईपीएल के सबसे कमज़ोर खिलाड़ी! जानिए कैसे हुआ है यह बड़ा खुलासा?

Shadab Ali Updated: 27 September, 2020, 6:58 PM IST

आईपीएल की सबसे सफल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने हाल ही में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वे जब टीम की अगुवाई करते हैं तो वे खुद को सबसे कमतर आंकते हैं. मालूम हो कि रोहित शर्मा की अगुवाई में एमआई ने अभी तक 4 आईपीएल टाइटल अपने नाम किए हैं. इतना ही नहीं रोहित शर्मा विश्व के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक हैं. 

रोहित शर्मा ने कहा, "मैं अपने साथी खिलाड़ियों को वहीं देखना चाहता हूं जहां मैं हूं, जब मैं अपने खिलाड़ियों से बात करता हूं तो मैं सोचता हूं कि मैं टीम का सबसे कम महत्वपूर्ण व्यक्ति हूं. अगर मैं ऐसा सोचता हूं, तो इसके पीछे मेरी यह धारणा काम करती है कि मैं टीम के लिए जरूरी नहीं, इसका मतलब है कि आप सभी जरूरी हैं, क्योंकि अब आप योजना को आगे बढ़ाएंगे और इसलिए जो आप चाहते हैं मैं वही करूंगा."

गौरतलब है कि रोहित शर्मा की टीम ने मौजूदा आईपीएल संस्करण में अभी तक दो मैचों में से एक में जीत और एक में हार का सामना किया है. मुंबई इंडियंस को लीग के पहले मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने 5 विकेट से पराजित किया था. वर्तमान में एमआई अंक तालिका में तीसरे स्थान पर मौजूद है. 

अब पाकिस्तानी खिलाड़ी भी आईपीएल में खेलते आएंगे नज़र? पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज का बड़ा ऐलान!

Shadab Ali Updated: 27 September, 2020, 6:14 PM IST

पाकिस्तानी टीम के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी ने हाल ही में अपने देश के खिलाड़ियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. अफरीदी ने कहा कि पाक क्रिकेटर्स को आईपीएल में खेलने का मौका नहीं मिल रहा है, जबकि यह विश्व टी20 क्रिकेट का सबसे बड़ा ब्रांड है. बता दें कि पाक खिलाड़ियों को आईपीएल के पहले सीजन में खेलने का मौका मिला था. अब अफरीदी को इस लीग में पाकिस्तानी प्लेयर्स के नहीं खेलने का दुख सता रहा है.

दाएं हाथ के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज ने कहा, "मैंने भारत में क्रिकेट खेलने का जमकर मजा उठाया है. मुझे वहां जो प्यार और सम्मान मिला है मैं उसकी हमेशा सराहना करता हूं. अब सोशल मीडिया के जरिए मैं कुछ कहता हूं तो मुझे भारत से काफी संदेश आते हैं और उनमें से कई लोगों की बातों का जवाब भी देता हूं. भारत में खेलने का मेरा अनुभव काफी अच्छा रहा है और मुझे अफसोस है कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को भी भारत जाकर आईपीएल में खेलना चाहिए."

पाक खिलाड़ियों को भी आईपीएल में मिले मौका - अफरीदी 

उन्होंने आगे कहा, "ये लीग दुनिया का सबसे बड़ा ब्रांड है और बाबर आजम हों या फिर अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ी, उनके लिए ये भारत जाने, दवाब में खेलने और बड़े खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने का एक शानदार मौका हो सकता है. मेरा ऐसा मानना है कि पाकिस्तान के खिलाड़ी इस सुनहरे मौके को गंवा रहे हैं."

IPL 2020 - आज RR की टीम में जॉस बटलर की होगी वापसी! क्या गेल भी लौटेंगे KXIP में?

Shadab Ali Updated: 27 September, 2020, 5:30 PM IST

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें संस्करण के 9वें मुकाबले में रविवार को राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच घमासान होगा. KXIP ने अभी तक अपने दो मुकाबलों में से एक में जीत और एक में हार का सामना किया है, जबकि आरआर ने अपने पहले ही मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को 16 रन से पटखनी दी थी, जहां पंजाब आज अपने तीसरे मैच में शिरकत करेगी. वहीं, राजस्थान अपना दूसरा मुकाबला खेलेगी. 

मालूम हो कि दूसरे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान और सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने आरसीबी के खिलाफ शानदार शतक जड़ा था और टीम बड़े अंतर से मुकाबला जीती थी. 

दोनों टीम्स की संभावित एकादश 

राजस्था रॉयल्स - जॉस बटलर, यशस्वी जायसवाल, स्टीव स्मिथ (कप्तान), संजू सैमसन (विकेटकीपर), रोबिन उथप्पा, रियान पराग, राहुल तेवतिया, टॉम करण, श्रेयस गोपाल, जोफ्रा आर्चर और जयदेव उनादकट.

किंग्स इलेवन पंजाब - केएल राहुल (कप्तान, विकेटकीपर), मयंक अग्रवाल, निकोलस पूरन, करुण नायर, ग्लेन मैक्सवेल, सरफराज खान, जेम्स नीशम, शेल्डन कॉटरेल, रवि बिश्नोई, मोहम्मद शमी और मुरुगन अश्विन. 

आमने-सामने

दोनों टीमों के बीच अभी तक कुल 19 मुकाबले खेले गए हैं, जहां राजस्थान रॉयल्स ने पंजाब से एक मैच ज्यादा जीता है. अब तक खेले गए 19 मुकाबलों में से राजस्थान रॉयल्स 10 और किंग्स इलेवन पंजाब ने 9 मुकाबले जीते हैं.